You are here

BR Ambedkar/भीमराव अंबेडकर Biography in Hindi 2020

BR Ambedkar/भीमराव अंबेडकर Biography in Hindi 2020

आपको इस पोस्ट BR Ambedkar/भीमराव अंबेडकर Biography बताया गया है अगर आपको यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे.

नाम-भीमराव अंबेडकर            
जन्म-14 अप्रैल 1891
स्थान- मध्य प्रदेश
देश-भारत
पिता-रामजी मालोजी सकपाल
माता-भीमाबाई
पत्नी-रमाबाई आम्बेडकर , डॉ॰ सविता अंबेडकर
मृत्यु-6 दिसम्बर 1956
गुरु-गौतम बुद्ध ,संत कबीर, महात्मा ज्योति राव फूले
14 अप्रैल 1923 मैं भीमराव अंबेडकर ने MA,DHD,बार ऐट लॉ,MSC,DSC की डिग्रियां प्राप्त करने वाले भारत के प्रथम व्यक्ति थे
अंबेडकर विदेश से अर्थशास्त्र की डिग्री प्राप्त करने वाले भारत के पहले व्यक्ति थे
6 दिसम्बर 1956 भीमराव अंबेडकर जयंती के रूप में मनाया जाता है इस दिन भारत में छुट्टी रहती है
5 साल की उम्र में अंबेडकर की शादी कर दी गई
1990 भीमराव अंबेडकर भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया यह सामान मैं मरणोपरांत मिला था

बचपन

 

भीमराव अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 में मध्यप्रदेश में महू की छावनी में हुआ था। उनके पिता का नाम रामजी मलोजी सकपाल और उनकी माता का नाम भीमाबाई था रामजी मलोजी सकपाल मिलिट्री में सूबेदार के पद पर थे। अंबेडकर अपने माता पिता के 14 वें और अंतिम संतान थे रामजी सकपाल 1894 में ब्रिटिश भारतीय सेना मैं सेवानिवृत्त हो गए और पिता की मृत्यु के 2 साल बाद अंबेडकर की मां की मृत्यु हुई।

 

शिक्षा

7 नवंबर 1900 अंबेडकर ने प्रारंभिक शिक्षा सतारा शहर में गवर्न्मेण्ट हाईस्कूल में की थी अंबेडकर जब 6 साल के थे। तो उसकी माता की मृत्यु हो गई उसके बाद परिवार मुंबई चला गया। वहां पर उन्होंने एल्फिंस्टोन रोड पर स्थित गवर्न्मेंट हाईस्कूल में 2007 मैं दसवीं क्लास पास की स्कूल के दिनों में छुआछूत का व्यवहार किया जाता था। स्कूल में वह अपने भाई आनंद राव के साथ इकट्ठे पढ़ते थे। उन्हें कक्षा में क्लास के पीछे बिठाया जाता था।

स्कूल की पढ़ाई पूरी होने के बाद अंबेडकर ने एल्फिंस्टन कॉलेज में दाखिला लिया। 1913 उन्होंने बीए की परीक्षा पास की,बड़ौदा के महाराज की मदद से 1913 में अमेरिका की कोलंबिया यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया। वहां उन्होंने 2 साल में MA की और तीसरी साल 1916 में पीएचडी पूरी कर ली फिर वह वापस भारत आ गए।

1920 में इंग्लैंड लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में दाखिला लिया। वहां पर उन्होंने डीएचसी पढ़ाई की वहां पर अंबेडकर 16 से 18 घंटे रोजाना पढ़ते थे। वहां डिग्री पूरी करने के बाद वह वापस भारत लौट गए। उनके पास एम ए टी एच डी ,बार ऐट लॉ ,एमएससी ,डीएससी की डिग्रियां प्राप्त कर ली थी।

नौकरी

अमेरिका पढ़ाई पूरी करने के बाद वह भारत आए भारत आने के बाद उन्होंने सिडेनहैम कॉलेज मैं अर्थशास्त्र के अध्यापक रूम में उन्हें बच्चों को पढ़ाया अंबेडकर पढ़ाने में इतने माहिर थे। कि उनकी क्लास में उनके बच्चे उन्हें ध्यान पूर्वक पढ़ते थे। उनके पास पैसे की कमी थी और कुछ पैसे इकट्ठे करने के बाद वह 1920 में नौकरी छोड़ दी और लंदन पढ़ने के लिए चले गए।

विवाह

BR Ambedkar/भीमराव अंबेडकर Biography

1907 अंबेडकर का विवाह रमाबाई से करवा दिया गया। रमाबाई एक गरीब परिवार की लड़की थी अंबेडकर को महान बनाने में उनकी पत्नी की अहम भूमिका थी। रमाबाई के सुख और दुख में हमेशा साथ रही। 1935 मैं उनकी पत्नी रमाबाई की बीमारी के कारण निधन हो गया। उन्होंने 15 अप्रैल 1948 मैं नई दिल्ली में डॉ॰ सविता अंबेडकर के साथ दूसरी शादी कर ली। शादी के बाद अंबेडकर की देखभाल उसकी पत्नी ने की और 29 मई 2003 को नई दिल्ली के मेहरौली में उनका निधन हो गया।

राजनीतिक

1926 में, अंबेडकर ने बॉम्बे विधान परिषद के सदस्य नियुक्त किए गए।
13 अक्टूबर 1935 को, अंबेडकर को सरकारी लॉ कॉलेज का प्रधानचार्य पद पर रहे प्रधानाचार्य के पद पर उन्होंने 2 साल की कार्य किया।
1936 में, आम्बेडकर ने अपनी नई स्वतंत्र लेबर पार्टी बनाई।
1937 में वह केंद्रीय विधान सभा के सदस्य चुने गए वहां पर उन्होंने 1942 तक विधानसभा में कार्य किया।
भारत की आजादी के लिए अंबेडकर ने अहम भूमिका निभाई।
भारत के प्रथम क़ानून एवं न्याय मंत्री।
15 अगस्त 1947 – सितंबर 1951।
भारतीय संविधान सभा की मसौदा समिती के अध्यक्ष पद पर 29 अगस्त 1947 से 24 जनवरी 1950 कार्य किया।
श्रम मंत्री, वायसराय की कार्य-परिषद पद पर जुलाई 1942 –46।

 

संविधान

 

BR Ambedkar/भीमराव अंबेडकर Biography

1.15 अगस्त 1947 को भारत आजाद होने के बाद भारत में कांग्रेस सरकार आई कांग्रेस सरकार में अंबेडकर को भारत के पहले कानून एवं न्याय मंत्री के पद पर नियुक्ति की गई 29 अगस्त 1947 को 2.अंबेडकर ने नए संविधान की मांग की गई।
3.26 नवंबर 1949, को संविधान पारित किया गया उसमें लिखा गया था।
4.नागरिकों के लिए नागरिक स्वतंत्रता होने चाहिए।
5.धर्म की आजादी दी जानी चाहिए।
6.छुआछूत के भेद भाव को खत्म करना चाहिए।
7.महिलाओं के लिए व्यापक आर्थिक और समाजिक कार्यों के लिए अलग से कानून बनाया गया।
8.अनुसूचित जातियों जैसे एससी,एसटी,ओबीसी व्यक्तियों के लिए नागरिक सेवाओं, स्कूलों और कॉलेजों में नौकरियों आरक्षण मिलना चाहिए।
9.जब यह संविधान अपना लिया गया तब भीमराव अंबेडकर ने कुछ समझ गए।
10.26 जनवरी 1950 को यह संविधान में लागू हो गया 26 जनवरी भारत गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

मैं महसूस करता हूं कि अपना सविधान काम करने लायक है। यह इतना लचीला है। लेकिन इतना मजबूत भी है अपने देश को शांति और युद्ध के समय जोड़ कर रख सकता है। वास्तव, में मैं कह सकता हूं अगर कभी कुछ गलत हुआ तो इसका कारण यह नहीं होगा कि हमारा सविधान खराब था। बल्कि उसे उपयोग करने वाले मनुष्य निकम्मा हो सकते हैं।

अंबेडकर द्वारा लिखी गई पुस्तकें

1.एडमिनिस्ट्रेशन एंड फिनांसेज़,
2द एवोल्यूशन ऑफ़ प्रोविंशियल फिनांसेज़,
3.दी प्राब्लम आफ दि रुपी,
4.इण्डिया एण्ड कम्यूनिज्म,
5.विच वे टू इमैनसिपेशन,
6.अ पीपल ऐट बे,
7.द अनटचेबल्स और द चिल्ड्रेन ऑफ़ इंडियाज़ गेटोज़,
8.केन आय बी अ हिन्दू,
9.व्हॉट द ब्राह्मिण्स हैव डन टू द हिन्दुज,
10.इसेज ऑफ भगवत गिता,

 

मृत्यु

1948 में अंबेडकर को मधुमेह रोग की बीमारी हो गई थी। 1954 में वह इस बीमारी से बहुत ज्यादा बीमार हो गए। और 6 दिसंबर 1956 में इस बीमारी के कारण उनकी मृत्यु हो गई। उसके बाद उसका पार्थिव शरीर मुंबई उनके घर ले जाया गया। उसके अंतिम संस्कार के समय वहां 10 लाख से ज्यादा लोगों इकट्ठे हुए। और इसके बाद उसकी दूसरी पत्नी डॉ सविता अंबेडकर 30 मई 2003 को 94 साल उम्र में का देहांत हो गया।

सचिन तेंदुलकर biography in Hindi 2020

APJ Abdul Kalam history in Hindi 2020?

 

 

आपको इस पोस्ट b. r. Ambedkar education, savita Ambedkar, BR Ambedkar in Hindi, maha nayak doctor bheemrav Ambedkar, Ambedkar family, b r Ambedkar short biography, BR Ambedkar/भीमराव अंबेडकर Biography,10 lines on dr b.r. Ambedkar in English dr Ambedkar history से रिलेटेड सुझाव हो तो नीचे कमेंट करें और अगर आपको यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे.

Spread the love

Leave a Reply

Top
Select Language​▼